What is Backlink In Hindi? Backlink क्या है, और क्या फायदे होते हैं?

Hello, दोस्तों आज का हमारा बिसय बस्तु है Backlinks, बैकलिंक्स क्या है और और उसके फ़ायदा क्या है? उन बिसेमे जानेंगे.

बैकलिंक्स बनाना SEO के एक अच्छे pratice में से एक है. बहत सारे blogger अछे अछे आर्टिकल लिखने के बाथ भी उनके वेबसाइट रैंक नहीं हो पाता. और कुछ नई bloggers गलत way से भी लिंक बनाने के कारन भी साइट रैंक नहीं करपाते.
पर इस आर्टिकल में Backlink के सारे जानकारी अछे से दिया गया है. यानि कन सा backlink वेबसाइट केलिए जरुरी है और कन सा नहीं ये आप आसानी से जान पाओगे. आईये जानते हैं बैकलिंक क्या है?

Backlinks क्या है और Backlinks के फायदा क्या हैं?

Backlink क्या है? What Is Backlink In SEO

“Backlink एक  hyperlink है जो दूसरे website से  link होता  है.”

Backlink एक लिंक बिल्डिंग process है जिसके मदत से वेबसाइट को आसानीसे rank किया जाता है. वेबसाइट को लम्बे समय तक चलने के लिए वेबसाइट में quality बैकलिंक्स का होना बहत जरुरी होता है.Quality Backlink बनाने के लिए बहत सारा rule follow करना पड़ता है.

बैकलिंक के Impotance बढ़ने के बाद बहत नई ब्लोग्गेर्स लिक buy/sell, Link exchange करते रहते हैं, जो की गूगल के नजर में एक spam हैबिट होता है.

वेबसाइट rank करने के लिए Natural लिंक बनाना बहत जरुरी है. जादा backlink बनाने से आछा, कुछ quality बैकलिंक वेबसाइट ranking में मदत करता है और Domain Authority को भी बढ़ाता है.  तो हमेसा quality और relevant लिंक बनाने के लिए try करे.

For An Example:- अगर आपका कोई travel का website है, और आप किसी Hotel, Turrist & ticket बुकिंग वेबसाइट से बैकलिंक बनाते हे, ये सभी  बैकलिंक  reavent होगा।

सभी backlinks automatic way (Spam Bots) में बनना नहीं चईये artificial way में होना चईये. अगर कोई high spam score वेबसाइट से backlink बनाते हो, तो Google में website penalized होने का बहत chance रहता है. सभी backlinks गूगल को नेचुरल लगनी चईये।जादा spam score वाले साइट से बैकलिंक ना बनाये तो आछा है.

Search Engine के अनुसार, बैकलिंक दो प्रकार के होते हैं एक “Do-Follow Backlink” होता है और दूसरा “No-Follow Backlink” होता है।

Do-Follow/No-Follow Backlink क्या है?

Do-follow Backlink:- 

Do-Follow बैकलिंक एक Clickable लिंक है, जो Search Engine को Follow करने की अनुमति देता है।

Example:- <a href=”https://Example.com/”>Example</a>

Or

<a href=’https://example.com’ rel=’dofollowclass=’url‘>Example</a>

 

यहां पर जानना जरुरी है कि, सभी Do-Follow लिंक्स को ही search Engine Count करता है और वेबसाइट rank बढ़ने में मदत करता है इसीतरहा वेबसाइट में no-follow backlinks से जादा do-follow backlink होना जरुरी है.

No-Follow Backlink:-

No-Follow बैकलिंक एक Clickable लिंक है, जो Search Engine को Follow करने की अनुमति नहीं देता है। 

<a href=’https://example.com/’ rel=’external nofollow‘>Example</a>

नो-फॉलो बैकलिंक्स website ranking में मदत ना करता हो, पर इसके के मदत से आपम रेफेरल ट्रैफिक ला सकते हो.
इंटरनेट में बहत सारा ऐसे साइट्स हैं जिसे उसे करके आप ट्रैफिक ला सकते हो.

बैकलिंक्स से क्या फायदे होते हैं?

बैकलिंक्स ब्लॉग के लिए बहत जरुरी होता है. जैसेकि में पहले ही बता चूका हूँ, के एक वेबसाइट को rank करने के लिए सभी SEO के साथ साथ बैकलिंक्स भी बनाना जरुरी होता है.
जय की की हम सभी जानते हैं, की बैकलिंक बनाने का कोई लिमिटेशन नहीं है. और daily बैकलिंक हैबिट से वेबसाइट पे बहत ज्यादा ट्रैफिक और popularity बढ़ता है. इसके वजेसे वेबसाइट को लोग पसंद करते हैं, और diract ट्रैफिक वेबसाइट पे आना start हो जाता है.
जैसे की बहत सरे ऐसेभी websites हैं, जहाँपे link drop करके रेफेरल त्रफक आ सकते है.
बैकलिंक्स के habit से कोईभी website को rank करने के साथ साथ बहत सरे अन्य फ़ायदा भी होता है. जैसे की

वेबसाइट रैंक Increase होता है?

जब कोई सर्च इंजन में सर्च करता है, जो 1st पेज में result show करता है, वो सब optimised रिजल्ट होता है. उसी तरह जब आप किसी दूसरी साइट से बैकलिंक लाते हो, तभी आपके वेबसाइट का priority और indexing रेट बढ़ जाता है. Then आपके वेबसाइट ranking बढ़ता है, सर्च इंजन के compitition के अनुसार आपके साइट को एक position मिलता है.

वेबसाइट में अगर compitater से ज्यादा quality बैकलिंक्स होता है, साइट google के 1st पेज में आ जाता है. Then वेबसाइट पे traffic आना start हो जाता है.
ये सभी प्रोसेस बैकलिंक के मदत से possible हो पता है. और इसको भी बैकलिंक के एक advantages में गिनजाता है.

Alexa रैंक Increase करता है

Alexa एक global रैंकिंग फैक्टर है. ये वेबसाइट के ट्रैफिक के उपर निर्भर करता है. वेबसाइट में किसी तरह का ट्रैफिक हो (Referal, Diract, Organic), Alexa website के volume को कैलकुलेट करके रैंक distribute करता है. मैं पहले ही बता चूका हूँ के आर्गेनिक ट्रैफिक के volume referal और Diract ट्रैफिक से काईन ज्यादा होता है. तो यहां पे हम ज्यादा बैकलिंक बढ़ा के alexa रैंक को increase कर सकते हैं.

Then, वेबसाइट का रैंक increase करके अलेक्सा रैंक का बढ़ोतरी हो सकता है.

Increase ReferalTraffic

एक वेबसाइट में referal ट्रैफिक की बहत impotance होता है. जो की साइट के Branding बढ़ाने के साथ साथ alexa रैंक और money makeing के लये भी फायदा होता है.
कुछ पॉपुलर साइट्स और forums ऐसे हैं अगर उन sites पे बैकलिंक बनाया जाये तो बहत referal ट्रैफिक मिल करसकते हैं. तो backlink organic ट्रैफिक, alexa rank बढ़ने के साथ साथ referal traffic एमए भी मदत करता है. Q&A वेबसाइट में अगर आप लिंक ड्राप करते हो तो आप लोगो के help करने के साथ साथ रेफेरल ट्रैफिक ला सकते हो.

आदिक जानकारी के लिए अप्प ये वेबसाइट देख सकते हो MOZ.

Conclusion:-

उम्मीद करता हूँ के, ऊपर के article आप के लिए मदत कर रहेगा। ऊपर के आर्टिकल में आप जान सकते हैं की बैकलिंक क्या है? और बैकलिंक से क्या फायदा होता है? अगर आर्टिकल में कुछ भी समाज ने में परिसानी होती है, और कोई नाइ तरीका है बैकलिंक बैकलिंक को लेके, कमेंट में मुझे जरूर बताये. धन्यवाद आर्टिकल रीड करने के लिए.

SEO In Hindi, Search Engine Optimization क्या है, पूरी जानकारी हिंदी मे

आप अभी इस वेबसाइट पर है मतलब आपका SEO के बारेमे जानकारी चाइये.

Don’t worry, में आपको जरूर सहायता करूँगा।

इस आर्टिकल में हम आज जानेंगे के SEO क्या है? और ये क्यासे काम करता है? और SEO कैसे करे?

अगर आप ठीक से ये आर्टिकल को पढ़ेंगे तो basic SEO के सारि जानकारी आपको मिलपायेगा.

SEO का पूरा मतलब है “Search Engine Optimisation”. Search Engine में किसीभी वेबसाइट का ranking increase करके, वेबसाइट को 1st पेज लानेकेलिए SEO किया जाता है.
इंटरनेट में बहत सारा factor है जिससे वेबसाइट पे Trffic drive किया जासकता है. उनमेसे SEO सबसे powerful factor है.SEO in Hindi, Basic SEO guide in hindi

Search Engine Optimisation क्या है? SEO In हिंदी।

SEO एक process है जिसके माध्यम से वेबसाइट पर organic traffic drive होता है.

In other word “SEO एक process है जिसे use करके करके किसीभी वेबसाइट को गूगल के 1st पेज लाया जाता है“. Search Engine के result पेज को SERP Result काहा जाता है. SEO के प्रक्रिया के आधार पर, इसे दो भागों में विभाजित किया गया है, पहला पेज On-Page SEO है और दूसरा Off-page SEO है।

एक और वेबसाइट है जो SEO पर बेहतर Result दे सकती है, Moz.

SERP Kya Hai:

हर दिन लोग Search Engine में कुछ ना कुछ Search करते रहते हे. Search करने के बाद, 1st पेज में जो sesult show करता है, उसे optimised result होता है. जो की SEO किया हुआ है. और उस पेज को SERP result (Search Engine Result Page) कहा जाताहै।
SERP में Meta Title & Meta description रिजल्ट शो करता है. जो की SEO में बहत जरुरी होता है.

SEO Kya hai In hindi

Organic Traffic Kya Hai:

“वेबसाइट को Search Engine में optimise करके, Search Engine से जो Traffic लाया जाता है उसे Orgaic traffic कहा जाता है.” 

साधारण भासा में Search Engine से जो ट्रैफिक Refer होक वेबसाइट में आता है उसे Organic Traffic कहते है. Google के 1st पेज में Show करने के लिए दो तरीके हे एक या तो आप Paid Marketing करके ट्रैफिक Generate करसकते हो या आपने वेबसाइट को Google में Optimise करके Organic Traffic ला सकते हो.

Paid markting में बहत सारा money invest करना पड़ता है, अगर आप SEO करतेहो तो बिना पैसा खर्च किये organic traffic ला सकते हो.
Google Adsense में Google जितना Publisher को paid करता हैं, उससे 40% अधिक advertiser से Charge करता है.

Paid Marketing तुलना में SEO एक अछि option है traffic लानेका.

Keyword Research Kya Hai:

SEO में Keyword research एक vital पार्ट है. बिना keyword research के आप कोई भी article लेख सकतेहो लेकिन उसे Google में rank करना मुल्किल होता है. तो इस लिए SEO में Keyword Research जरुरी होता है.

Keyword research के मदत से वेबसाइट पे targeted और relevant आर्गेनिक Traffic आना possible होता है.
ऑनलाइन में बहत सारा tool है जो Google Keyword research डाटा provide करते हे. Semrush, Arhefs, Longtail pro, & Google Keyword Planner. इन सभी tool से google keyword planner सबसे अच्छा और free टूल है जो की आपको फ्री में keyword के जानकारी देता है.

On-Page SEO Kya Hai:

Keyword research के तरह On-Page SEO भी एक essencial पार्ट है.

SEO Keyword research के बाद आपके वेबसाइट में On-Page SEO ठीक होना बहत जरुरी है. इन दिनों Google, On-Page SEO पे बहत ध्यान देता है.

Actually On-Page क्या है?

Answer है “वेबसाइट को Optimize करने केलिए वेबसाइट के inside में जो changes किया जाता है उसे On-Page SEO कहते है”.

On-Page SEO के बहत सारा Process है, उसे optimize करना बहत जरुरी है.
On-page SEO के Factors:

  1. Title tag optimization
  2. Permalink optimization (canonical Link)
  3. Keyword Implementation
  4. Keyword density
  5. Image Alt tag & Title tag
  6. Header tags (h1, h2,h3…)
  7. Meta description Optimization
  8. Structure data Implementation
  9.  Mobile-Friendly pages
  10. Website Speed
  11. Robots.txt file
  12. Sitemap.xml page
  13. Internal Linking
  14. External Linking

Off-Page SEO Kya Hai

Off-Page SEO अबतक का सबसे difficult SEO Process है.

इस SEO process में, एक वेबसाइट को optimize करने केलिए outside of वेबसाइट में Link Building करना पड़ता है. In Other words इसे Link Building SEO भी कहा जाता है. इस process में वेबसाइट को optimize करने के लिए दूसरे वेबसाइट में Link Building करना पड़ता है. और इस process को backlink कहते हे.

 

“Backlink एक hyperlink है means text inside the external link (Highlighted On A website) होता है”

 

बिना backlink के वेबसाइट को Google में rank करना बहत मुश्किल होता है. आपके वेबसाइट में जितना Backlink होगा उस हिसाब से आपका वेबसाइट का rank, Domain Authority ज्यादा होगा. वेबसाइट को ज्यादा Organic Traffic मिल पायेगा.

तो वेबसाइट में Link Building का बहुत बड़ा भूमिका है.

Link Building/Off-Page key Factors:

  1. Guest posting
  2. Social Bookmarking
  3. Slideshare Submission
  4. Blog Commenting
  5. Directory Submission
  6. PDF Submission

वेबसाइट में SEO के क्या जरुरत है:

जैसे के में आपको पहले बता चूका हूं, की सभी लोग उनके जरुरत के लिए Google में सर्च करते है. लगभग 90% लोग Google सर्च इंजन उसे करते हे.

अगर किसी वेबसाइट के analytics डाटा देख जाए, इसमें बहुत प्रकार का traffic होता है. Referal Traffic, Diract Traffic & Organic Traffic. सभी वेबसाइट traffic आछा होता है. लेकिन Search Engine ट्रैफिक यानि Organic Traffic topic relevant टरट्राफिक होता है. क्योंकि लोग अपने जरुरत की जानकारी केलिए Search Engine में Search करते हे. और उनके जरुरत के हिसाब से वेबसाइट पे visit करते हे.

Google analytics Image in hindi

(ये मेरे एक वेबसाइट का data है, जिसमे आप देख सकते हो की organic Traffc के Term sabse ज्यादा है)

इस से ये फयादा ये होगा की

  • से targeted ट्रैफिक generate कर सकतेहो
  • किसीभी Product को कम समय में प्रमोट करसकते
  • Website के मद्धम से खुद का ब्रांड बनसकते हो
  • Huse ट्रैफिक से पैसा कमा सकते हो

Conclusion:-

ऊपर आर्टिकल में आप Basic SEO के sabhi जानकारी मिलचुका है. आशा करता हूँ ये आर्टिकल आपके लिए मददकर होगा। अगर आपके पाई SEO के बारे में कोई अधिक जानकारी है आप मुचे comment में बता सकते हो, Thank You For Visiting.