Backlink कैसे बनाये और Backlink कितने प्रकार का हैं?

hello, दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे की Backlink कितने प्रकार का है और क्यासे बनाये?

बैकलिंक एक वेबसाइट रैंकिंग के वो पहलु है जिस से वेबसाइट को organic ट्रैफिक मिलता है. बैकलिंक के impotance बढ़जाने के बाद बहुत ब्लॉगर spam तरीके से बैकलिंक बनाने को कोशिश करतेहैं। जो की वेबसाइट रैंकिंग के लिए अच्छे नहीं होते. हालाकि वो बकलंक से वेबसाइट रैंक हो जाता है लेकिन कुछ समय बाद गूगल वो वेबसाइट को panalised यानि search engine से निकल देता है।

आप अगर आपके वेबसाइट को long time के लिए ranking aur traffic को बरक़रार रखना चाहते हो तो सही तरीके से लिंक बिल्डिंग करना पड़ेगा। सभी अच्छे Bloggers का मानना है की वेबसाइट के ranking डोमेन age पर भी निर्भर करता है. Website पे अच्छे लिंक building से Domain age बढ़ता है और domain का reputation बढ़ोत्री होता।

में पहले ही बता चूका हूँ की बैकलिंक क्या है? अभी इस आर्टिकल में बैकलिंक क्यासे बनाना है आज जानेंगे।

Backlink क्यासे बनाये और Backlink कितने प्रकार का हैं

Backlink क्यासे बनाये और कितने प्रकार का हैं?

बैकलिंक बनाना एक अछि seo हैबिट है। एक वेबसाइट के रैंकिंग उसके लिंक बिल्डिंग यानि बैकलिंक के ऊपर depand करता है. इसलिए जितना हो सके उतना good backlinks बनाओगे तो आपके वेबसाइट के ranking में उतना changes होगा।
एक आछा ब्लॉगर हमेसा quality और high authrity साइट्स से backlink बनाने को try करता है. क्योंकि अच्छे authority साइट से link लेन से आपके वेबसाइट के domain और page authority भी बढ़ता है.

अभी हम जानेंगे की Backlink क्यासे बनाये?

Backlink बनाने के बहत process हैं, जैसे की:-

  1. Guest Posting
  2. Blog Commenting
  3. Directory Submission
  4. PDF Submission
  5. Forum Q&A
  6. Profile Creation

Guest Posting Backlink क्यासे बनाये:-

सभी अच्छे blogger’s के हिसाबसे Guest posting बैकलिंक बनाने का सबसे आछा और natural link building process है। ये process में penalized का खतरा कम होता है. क्योंकि बैकलिंक का moto है की एक वेबसाइट के necessity को show करना। अगर लेखे गए article helpful है और वेबसाइट popular है, तो उसे बैकलिंक बनाना वेबसाइट के लिए बहत आछा होता है।

Guest Posting बैकलिंक process जितना ही आसान है उसको बनान उतना ही कठिन है। Guest posting का actual मतलब है की आपको एक ब्लॉगर के ब्लॉग पे post लेखना होगा तो उसी हिसाब से अगर आपका आर्टिकल ब्लॉगर को अच्छे लगे तो आपके post approve होने के साथ साथ बैकलिंक भी मिलता हे।
कोईभी blog के लिए guest post करते समय हमेसा आपका content को unique रखे, topic related content लेखे, पोस्ट के अंदर spam लिंक का इस्तेमाल ना करे, long content बनाये, content में रेच word का प्रयोग करे और conetnt में authentic way में बैकलिंक करे।

Blog Commenting Backlink क्यासे करे:-

सभी नए ब्लोग्गेर्स के लिए blog commenting backlink एक आछा start up होता है. Blog कमेंटिंग बैकलिंक के मद्दत से कोईभी नई ब्लॉगर उसके ब्लॉग्गिंग का experiment करसकता है।
इस तरह का बैकलिंक में आपको कोईभी एक Blog post में कमेंट करना होता है। ये process तब सम्भब हो पायेगा जब कोई ब्लॉग आपका comment box active किया होगा। केबल कमेंट box visible ब्लॉग post में आप कमेंट कर सकते हो।
कोईभी blog post में comment करते समय हमेसा आछा कमेंट करे, छोटा comment ना करे, topic के हिसाब से कमेंट करे, स्पैम comment यानि spam link drop ना करे। ये सभी चीज़ को ध्यान में रख के आगर comment करते हो तो अप्पके कमेंट approve होने के साथ आप backlink पा सकते हो।

सभी ब्लॉग में कमेंट dofollow नहीं होता जो की आपको बैकलिंक बनाने से फायदा नहीं होता। क्योंकि nofollow बैकलिंक्स से आपके वेबसाइट का रैंकिंग increase नहीं होगा। कोईभी ब्लॉग पे कमेंट करने से पहले ब्लॉग पे dofollow कमेंट या nofollow कमेंट approve हो रहा है की नहीं जान कर कमेंट करे।

Diractory Submission Backlink Backlink क्यासे करे:-

Directory submission एक advance बैकलिंक प्रोसेस है जिसके मद्दत से कोईभी directory वेबसाइट से आप बैकलिंक build करसकते हो। आज कल सभी directory वेबसाइट पे paid listing हो रहा है। इसके अलावा भी कईं listing वेब्सीटेस हैं जो की फ्री में listiing का काम कर रहे हैं।

सभी directory वेबसाइट commercial purposeके लिए बनाया जाता है। तो premium listing में भी कोई खतरा नहीं है, आप आपका paid बैकलिंक भी एक natural बैकलिंक की तरहा काम करेगा।

Directory वेब्सीटेस पे आपका खुद का वेबसाइट या कुछ भी प्रोडक्ट को online में प्रमोट करने का साथ, आपका वेबसाइट का लिंक शेयर करसकते हो। same पेज google में index होने के बाद एक बैकलिंक के तरहा काम करेगा।

PDF Submission Backlink क्यासे करे:-

Pdf बैकलिंक creation process से PDF document को pdf submission वेबसाइट में upload करने से बनता है। अगर आप एक नई blogger ही तो ये बकलांक backlink process से आप easy process है।

PDF बैकलिंक process से कुछ technical या Idea shareing PDF बनाकर उसमें आपका वेबसाइट का dofollow link drop करना होगा। Then वही PDF DOCUMENT को PDF shareing वेबसाइट में upload करना होगा। थें इस प्रकार आप एक dofollow बैकलिंक बनासक्ते हो।

PDF submission बैकलिंक में dofollow बैकलिंक बनाने के साथ साथ आपके वेबसाइट पे referal ट्रैफिक ला सकते हो। इसमे ध्यान रखना जातुरी है कि आपके शेयर किए हुए PDF helpful हो।

Forum Q&A Backlink क्यासे करे:-

internet में बहुत से forum हैं जहन से आप backlink बिल्ड करसकते हो। हलाकि forums Q&A platform होता है, जो की आप आसानी से backlink बनसकते हो।
फोरम का सभी लिंक search engine में index होता है जो आपको आसानी से dofollow backlink मिल सकता है. सभी forums का high domain authority और spam स्कोर कम होने के वजेसे वेबसाइट ranking में बढ़ोती की chance बहत होता है।

forum में बैकलिंक बनाने के लिए आपको किसीभी टॉपिक पे reply या answer होता है। अगर आपके वेबसाइट में फोरम के topic related कोईभी डाटा है तो आप उसके लिंक शेयर करसकते हो। में बहुत bloggers को देखा हूँ के वो फोरम में spam एक्टिविटी करते हैं। जो की एक बैकलिंक बनाने के लिए nagetive way है। यहां ध्यान रखना जरुरी है की कोईभी spam activity से forum का admin आपको ब्लॉक भी कर सकता हे।

Profile Creation Backlink क्यासे करे:-

Profile creation बैकलिंक में कोईभी पॉपुलर वेबसाइट में प्रोफाइल बनके लिंक drop करने से backlink बनता है. मैं लगभग आपको सभी बैकलिंक के process के बारे में बता चूका हूँ। सभी बैकलिंक प्रोसेस ये process सबसे आसान है और कोईभी हाई authority वेबसाइट से ये बैकलिंक generate किया जा सकता है।
इस प्रोसेस को करने के लिए आपको वेबसाइट पे sign up करके प्रोफाइल क्रिएट करना है। आपके सभी detail के साथं अगर आप आप का वेबसाइट का url drop करते हो तो वहां से आप एक बैकलिंक प् सकते हो।
इससे पहले आपको ये देखना होगा के उसका profile URL search engine में इंडेक्स हो रहा है की नहीं।

Conclusion:-

ऊपर लेखे गए आर्टिकल में में आशा करता हूँ के आपको बाखली के बारे में जान ने में और बैकलिंक कितने प्रकार का होते हैं बारे में मद्दत मिलेगा। अगर आपके पास कोई अन्य सुझाब है या backlink बनने को लेके कोई doubt है तो आप मुझे कमेंट में बता सकते हैं। बैकलिंक के अधिक जानकारी के लिए ये आर्टिकल पढ़े बैकलिंको

What is Backlink In Hindi? Backlink क्या है, और क्या फायदे होते हैं?

Hello, दोस्तों आज का हमारा बिसय बस्तु है Backlinks, बैकलिंक्स क्या है और और उसके फ़ायदा क्या है? उन बिसेमे जानेंगे.

बैकलिंक्स बनाना SEO के एक अच्छे pratice में से एक है. बहत सारे blogger अछे अछे आर्टिकल लिखने के बाथ भी उनके वेबसाइट रैंक नहीं हो पाता. और कुछ नई bloggers गलत way से भी लिंक बनाने के कारन भी साइट रैंक नहीं करपाते.
पर इस आर्टिकल में Backlink के सारे जानकारी अछे से दिया गया है. यानि कन सा backlink वेबसाइट केलिए जरुरी है और कन सा नहीं ये आप आसानी से जान पाओगे. आईये जानते हैं बैकलिंक क्या है?

Backlinks क्या है और Backlinks के फायदा क्या हैं?

Backlink क्या है? What Is Backlink In SEO

“Backlink एक  hyperlink है जो दूसरे website से  link होता  है.”

Backlink एक लिंक बिल्डिंग process है जिसके मदत से वेबसाइट को आसानीसे rank किया जाता है. वेबसाइट को लम्बे समय तक चलने के लिए वेबसाइट में quality बैकलिंक्स का होना बहत जरुरी होता है.Quality Backlink बनाने के लिए बहत सारा rule follow करना पड़ता है.

बैकलिंक के Impotance बढ़ने के बाद बहत नई ब्लोग्गेर्स लिक buy/sell, Link exchange करते रहते हैं, जो की गूगल के नजर में एक spam हैबिट होता है.

वेबसाइट rank करने के लिए Natural लिंक बनाना बहत जरुरी है. जादा backlink बनाने से आछा, कुछ quality बैकलिंक वेबसाइट ranking में मदत करता है और Domain Authority को भी बढ़ाता है.  तो हमेसा quality और relevant लिंक बनाने के लिए try करे.

For An Example:- अगर आपका कोई travel का website है, और आप किसी Hotel, Turrist & ticket बुकिंग वेबसाइट से बैकलिंक बनाते हे, ये सभी  बैकलिंक  reavent होगा।

सभी backlinks automatic way (Spam Bots) में बनना नहीं चईये artificial way में होना चईये. अगर कोई high spam score वेबसाइट से backlink बनाते हो, तो Google में website penalized होने का बहत chance रहता है. सभी backlinks गूगल को नेचुरल लगनी चईये।जादा spam score वाले साइट से बैकलिंक ना बनाये तो आछा है.

Search Engine के अनुसार, बैकलिंक दो प्रकार के होते हैं एक “Do-Follow Backlink” होता है और दूसरा “No-Follow Backlink” होता है।

Do-Follow/No-Follow Backlink क्या है?

Do-follow Backlink:- 

Do-Follow बैकलिंक एक Clickable लिंक है, जो Search Engine को Follow करने की अनुमति देता है।

Example:- <a href=”https://Example.com/”>Example</a>

Or

<a href=’https://example.com’ rel=’dofollowclass=’url‘>Example</a>

 

यहां पर जानना जरुरी है कि, सभी Do-Follow लिंक्स को ही search Engine Count करता है और वेबसाइट rank बढ़ने में मदत करता है इसीतरहा वेबसाइट में no-follow backlinks से जादा do-follow backlink होना जरुरी है.

No-Follow Backlink:-

No-Follow बैकलिंक एक Clickable लिंक है, जो Search Engine को Follow करने की अनुमति नहीं देता है। 

<a href=’https://example.com/’ rel=’external nofollow‘>Example</a>

नो-फॉलो बैकलिंक्स website ranking में मदत ना करता हो, पर इसके के मदत से आपम रेफेरल ट्रैफिक ला सकते हो.
इंटरनेट में बहत सारा ऐसे साइट्स हैं जिसे उसे करके आप ट्रैफिक ला सकते हो.

बैकलिंक्स से क्या फायदे होते हैं?

बैकलिंक्स ब्लॉग के लिए बहत जरुरी होता है. जैसेकि में पहले ही बता चूका हूँ, के एक वेबसाइट को rank करने के लिए सभी SEO के साथ साथ बैकलिंक्स भी बनाना जरुरी होता है.
जय की की हम सभी जानते हैं, की बैकलिंक बनाने का कोई लिमिटेशन नहीं है. और daily बैकलिंक हैबिट से वेबसाइट पे बहत ज्यादा ट्रैफिक और popularity बढ़ता है. इसके वजेसे वेबसाइट को लोग पसंद करते हैं, और diract ट्रैफिक वेबसाइट पे आना start हो जाता है.
जैसे की बहत सरे ऐसेभी websites हैं, जहाँपे link drop करके रेफेरल त्रफक आ सकते है.
बैकलिंक्स के habit से कोईभी website को rank करने के साथ साथ बहत सरे अन्य फ़ायदा भी होता है. जैसे की

वेबसाइट रैंक Increase होता है?

जब कोई सर्च इंजन में सर्च करता है, जो 1st पेज में result show करता है, वो सब optimised रिजल्ट होता है. उसी तरह जब आप किसी दूसरी साइट से बैकलिंक लाते हो, तभी आपके वेबसाइट का priority और indexing रेट बढ़ जाता है. Then आपके वेबसाइट ranking बढ़ता है, सर्च इंजन के compitition के अनुसार आपके साइट को एक position मिलता है.

वेबसाइट में अगर compitater से ज्यादा quality बैकलिंक्स होता है, साइट google के 1st पेज में आ जाता है. Then वेबसाइट पे traffic आना start हो जाता है.
ये सभी प्रोसेस बैकलिंक के मदत से possible हो पता है. और इसको भी बैकलिंक के एक advantages में गिनजाता है.

Alexa रैंक Increase करता है

Alexa एक global रैंकिंग फैक्टर है. ये वेबसाइट के ट्रैफिक के उपर निर्भर करता है. वेबसाइट में किसी तरह का ट्रैफिक हो (Referal, Diract, Organic), Alexa website के volume को कैलकुलेट करके रैंक distribute करता है. मैं पहले ही बता चूका हूँ के आर्गेनिक ट्रैफिक के volume referal और Diract ट्रैफिक से काईन ज्यादा होता है. तो यहां पे हम ज्यादा बैकलिंक बढ़ा के alexa रैंक को increase कर सकते हैं.

Then, वेबसाइट का रैंक increase करके अलेक्सा रैंक का बढ़ोतरी हो सकता है.

Increase ReferalTraffic

एक वेबसाइट में referal ट्रैफिक की बहत impotance होता है. जो की साइट के Branding बढ़ाने के साथ साथ alexa रैंक और money makeing के लये भी फायदा होता है.
कुछ पॉपुलर साइट्स और forums ऐसे हैं अगर उन sites पे बैकलिंक बनाया जाये तो बहत referal ट्रैफिक मिल करसकते हैं. तो backlink organic ट्रैफिक, alexa rank बढ़ने के साथ साथ referal traffic एमए भी मदत करता है. Q&A वेबसाइट में अगर आप लिंक ड्राप करते हो तो आप लोगो के help करने के साथ साथ रेफेरल ट्रैफिक ला सकते हो.

आदिक जानकारी के लिए अप्प ये वेबसाइट देख सकते हो MOZ.

Conclusion:-

उम्मीद करता हूँ के, ऊपर के article आप के लिए मदत कर रहेगा। ऊपर के आर्टिकल में आप जान सकते हैं की बैकलिंक क्या है? और बैकलिंक से क्या फायदा होता है? अगर आर्टिकल में कुछ भी समाज ने में परिसानी होती है, और कोई नाइ तरीका है बैकलिंक बैकलिंक को लेके, कमेंट में मुझे जरूर बताये. धन्यवाद आर्टिकल रीड करने के लिए.